UPTET Most Important Question in Hindi with Explanation | यूपी टीईटी में पूछे जाने वाले अति-महत्वपूर्ण प्रश्न | UPTET Exam Quiz in Hindi

UPTET Most Important Question in Hindi : 28 नवंबर को उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परिक्षा होनी है। जिसको देखते हुए इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपके लिए यूपी टीईटी में पूछे जाने वाले अति-महत्वपूर्ण प्रश्न लेकर आये हैं। अगर आप भी इस परिक्षा के लिए तैयारी कर रहे हैं तो आपके लिए ये सभी (UP TET Exam Quiz in Hindi) प्रश्न काफी उपयोगी साबित हो सकते हैं। आपको यहाँ पर UPTET Most Important Question तो दिये ही गये हैं साथ ही इन सभी प्रश्नों के उत्तर को भी विस्तार पूर्वक समझाया भी गया है।

UPTET Most Important Quiz/Question in Hindi

UPTET के ये सभी Most Important Questions जो आपके लिए तैयार किये गये हैं और उसके साथ दी गयी जानकारी यूपी टीईटी परिक्षा के पाठ्यक्रम के अनुसार ही बनाई गयी है। आशा करते हैं कि इन UPTET Exam Quiz in Hindi के माध्यम से आपकी तैयारी में थोड़ी मदद होगी और आप इस परिक्षा में सफल होंगे।

इस आर्टिकल में आपको निम्न विषयों पर आधारित UP TET Important Questions दिये गये हैं-

  1. टीईटी में पूछे जाने वाले प्रश्न
  2. UP TET Child Development Questions in Hindi
  3. UP TET EVS Questions and Answers PDF in hindi
  4. UP TET Hindi Language Important Questions
  5. Biology Quiz in Hindi
  6. Important Books & Authors

UPTET Important Question in Hindi

प्रश्न 1. कोलर यह सिद्ध करना चाहता था कि सीखना-

  1. एक ऐसी स्थिति है जिसमें व्यक्ति, पशु से श्रेष्ठ है
  2. स्वायत्त यादृच्छिक क्रिया है
  3. संज्ञानात्मक संकार्य है
  4. पारिस्थिति के विभिन्न अंगों का प्रत्यक्षीकरण है

सही उत्तर : कोलर यह सिद्ध करना चाहता था कि सीखना एक संज्ञानात्मक संकार्य है।

कोलर ने अंतर्दृष्टि या सूझ को अधिगम में महत्त्वपूर्ण माना। निःसंदेह सूझ की प्रक्रिया एक संज्ञानात्मक प्रक्रिया है जो समस्या का संज्ञानात्मक समाधान प्रस्तुत करके सीखने की प्रक्रिया को अत्यधिक सरल, सहज तथा उद्देश्यपूर्ण बनाती है।


प्रश्न 2. किसी भी नयी भाषा को सीखने के लिए कहाँ से प्रारम्भ किया जाना चाहिए?

  1. अक्षरों व शब्दों के मध्य साहचर्य से
  2. वाक्यों के निर्माण से
  3. शब्दों के निर्माण से
  4. उपर्युक्त में से कोई नहीं
सही उत्तर : किसी नयी भाषा को सीखने के लिए अक्षरों व शब्दों के मध्य साहचर्य से प्रारम्भ किया जाना चाहिए।

  • क्योंकि भाषा सीखने की प्रक्रिया क्रमिक रूप से होती है। बालक पहले अक्षरों फिर शब्दों और अंत में वाक्यों को सीखता है।
  • अतः इनके मध्य साहचर्य होना अति आवश्यक होता है।


प्रश्न 3. समावेशी कक्षा में किस प्रकार का/के छात्र शामिल होता /होते है/हैं?

  1. केवल विशिष्ट छात्र
  2. सामान्य और विशिष्ट छात्र
  3. केवल सामान्य छात्र
  4. बहभाषी और प्रतिभाशाली छात्र

सही उत्तर : समावेशी कक्षा में सामान्य और विशिष्ट दोनों प्रकार के छात्र अध्ययन करते हैं।

  • समावेशी विद्यालय ऐसे संसाधन कक्षा-कक्ष का निर्माण करते हैं, जिसमें सामान्य बच्चों के साथ-साथ विशिष्ट बच्चे भी शिक्षा ग्रहण कर सकते हैं।
  • ऐसे कक्षा-कक्ष संसाधन युक्त, शिक्षण सहायक सामग्री युक्त तथा संसाधन शिक्षक युक्त होते हैं जहाँ विशिष्ट बालक अपने आपको समायोजित कर पाते हैं।


प्रश्न  4. अधोलिखित में गणित-सम्बन्धी अधिगम अक्षमता को कौन-सा पद परिभाषित करता है?

  1. नीरसता सम्बन्धी दोष
  2. पठन दोष
  3. गणना दोष
  4. उपर्युक्त में से कोई नहीं

सही उत्तर : गणनादोष, गणित-सम्बन्धी अधिगम अक्षमता को परिभाषित करता है।

  • गणना दोष से सम्बन्धित अधिगम अक्षमता को डिस्कैलकुलिया कहा जाता है।
  • इस प्रकार के अक्षमता वाले बच्चों में अंकगणितीय संक्रियाओं के चिन्हों को समझने में कठिनाई, दिशा ज्ञान का अभाव या अल्प समझ नकद अंतरण या भुगतान सम्बन्धी समस्याएँ होती हैं।


प्रश्न 5. समावेशीकरण की सफलता के लिए आवश्यक है-

  1. क्षमता निर्माण का अभाव
  2. अभिभावकों की भागीदारी का न होना
  3. अलगाव
  4. संवेदनशीलता

सही उत्तर : समावेशीकरण की सफलता के लिए संवेदनशीलता अत्यन्त आवश्यक है।

  • यह संवेदनशीलता समाज, समुदाय, परिवार, विद्यालय, शिक्षक तथा अन्य समकक्षी स्तर तक होना चाहिए ताकि विशिष्ट आवश्यकता वाले बच्चे अपने आपको समाज के अन्य सदस्यों से अलग न समझे तथा समाज में अपने-आपको समायोजित कर सकें।


6. निम्न में से कौन-सा संवेग का तत्त्व नहीं है?

  1. व्यवहारात्मक
  2. संज्ञानात्मक
  3. दैहिक
  4. संवेदी

सही उत्तर : संवेदी संवेग का तत्व नहीं है क्योंकि संवेग उत्पन्न होने पर प्राणी में दो स्तर पर परिवर्तन दिखाई देते हैं- पहला शारीरिक स्तर पर दूसरा मानसिक स्तर पर।

  1. शारीरिक स्तर पर जल्दी-जल्दी श्वाँस लेना, रक्तचाप बढ़ जाना, आवाज में परिवर्तन आ जाना, अंग संचालन की गति में परिवर्तन जैसी क्रियाएँ होती हैं, जबकि मानसिक स्तर पर विचार प्रक्रिया या तो शिथिल हो जाती है अथवा लुप्तप्राय हो जाती है।
  2. दूसरी ओर संवेदी क्रियाओं पर संवेग का कोई प्रत्यक्ष प्रभाव नहीं पड़ता है।


प्रश्न 7. संज्ञानात्मक क्षेत्र का सही क्रम है-

  1. ज्ञान-अनुप्रयोग-अवबोध-विश्लेषण-संश्लेषण-मूल्यांकन
  2. मूल्यांकन-अनुप्रयोग–विश्लेषण-संश्लेषण-अवबोध- ज्ञान
  3. मूल्यांकन-संश्लेषण-विश्लेषण-अनुप्रयोग-अवबोध- ज्ञान
  4. ज्ञान-अवबोध-अनुप्रयोग-विश्लेषण-संश्लेषण-मूल्यांकन

सही उत्तर : बेंजामिन एस ब्लूम ने शिक्षण के उद्देश्यों को तीन क्षेत्रों में विभाजित किया-

(i) संज्ञानात्मक क्षेत्र के उद्देश्य
(ii) भावात्मक क्षेत्र के उद्देश्य
(iii) मनोगात्यात्मक क्षेत्र के उद्देश्य

ब्लूम ने वर्ष 1956 में संज्ञानात्मक क्षेत्र के उद्देश्यों को पुनः क्रमशः 6 भागों में विभाजित किया, जो इस प्रकार हैं-

(1) ज्ञान (2) अवबोध (3) अनुप्रयोग (4) विश्लेषण (5) संश्लेषण (6) मूल्यांकन।


प्रश्न 8. निम्न में से कौन-सा अच्छे शिक्षण की विशेषता नहीं है?

  1. स्वेच्छाचारी
  2. जनतांत्रिक
  3. सहानुभूतिपूर्ण
  4. वांछनीय सूचनाएँ देने वाला
  ऐसे देखें SSC MTS 2019 की उत्तर कुंजी, How to see SSC MTS Answer Key 2019

सही उत्तर : स्वेच्छाचारितापूर्ण शिक्षण वातावरण अच्छे शिक्षण की विशेषता नहीं होती है।

  1. प्रभावशाली व आनन्ददायक वातावरण में किये गये शिक्षण का प्रतिफल अधिगम के रूप में परिलक्षित हो जाता है।
  2. इसलिए शिक्षण का वातावरण जनतांत्रिक, सहानुभूतिपूर्ण, सहयोगात्मक तथा वांछनीय सूचनाएँ देने वाला होना चाहिए।


प्रश्न 9. अभिप्रेरणा का प्रत्याशा सिद्धांत किसके द्वारा दिया गया है?

  1. विक्टर ब्रूम
  2. स्किनर
  3. मास्लो
  4. हर्जबर्ग

सही उत्तर : अभिप्रेरणा के सम्बन्ध में वर्ष 1964 में विक्टर ब्रुम प्रत्याशा सिद्धांत का प्रतिपादन किया।

  1. यह सिद्धांत अभिप्रेरणा, निष्पादन तथा कार्य संतुष्टि के कारणों को विभिन्न प्रकार से परिभाषित करता है।
  2. इस सिद्धांत के अंतर्गत व्यक्ति अपने कार्य का चयन स्वयं करता है।
  3. सभी व्यक्ति अपने उद्देश्यों, आवश्यकताओं, मूल्यों, कुशलताओं, योग्यताओं तथा भूमिकाओं के सम्बन्ध में सतर्क रहते हैं।


प्रश्न 10. अग्रिम व्यवस्थापक प्रतिमान किस परिवार से सम्बन्धित है?

  1. सामाजिक अन्तःक्रिया
  2. सूचना प्रक्रियाकरण
  3. व्यवहार परिमार्जन
  4. वैयक्तिक

सही उत्तर : ब्रूस आर. जोयस तथा मार्शवेल ने अपनी पुस्तक ‘मॉडल्स ऑफ टीचिंग’ में शिक्षण प्रतिमानों को चार भागों में बाँटा है-

(1) अंतः प्रक्रिया स्रोत
(2) सूचना प्रक्रिया करण
(3) व्यक्तिगत स्रोत प्रतिमान
(4) व्यवहार परिवर्तन स्रोत प्रतिमान

इन चार प्रकार के प्रतिमानों को पुनः कई विभागों में विभाजित किया गया है। जैसे- सूचना प्रक्रियाकरण को निम्न प्रकार से विभाजित किया गया है-

(i) निष्पत्ति सम्प्रत्यय प्रतिमान
(ii) अग्रिम व्यवस्थापक प्रतिमान
(iii) आगमन प्रतिमान
(iv) जैविक विज्ञान पृच्छा प्रतिमान आदि।


प्रश्न  11. कौशलों के स्थानान्तरण के लिए कौन-सा उपयोगी है?

  1. कौशल अन्तरण एक गति है न कि उद्देश्य
  2. रेखीय अभिक्रम
  3. शाखीय अभिक्रम
  4. तैयारी और अर्जन

सही उत्तर : कौशल को किसी जटिल कार्य को आसानी से और दक्षता से करने की योग्यता के रूप में परिभाषित किया गया है।

  1. कार चलाना, आशुलिपि में लिखना आदि कौशल के उदाहरण हैं।
  2. कौशल अधिगम गुणात्मक रूप से कई भिन्न चरणों से होकर गुजरता है।
  3. एक चरण से दूसरे चरण में संक्रमण कौशल अंतरण कहलाता है।
  4. यह कौशल अंतरण उद्देश्यपूर्ण न होकर स्वतः होता है अर्थात कौशल अंतरण एक प्रकार की यात्रा है न कि लक्ष्य या उद्देश्य।


प्रश्न 12. निम्न में से कौन-सा शिक्षण का सूत्र नहीं है?

  1. सरल से कठिन की ओर
  2. अनिश्चित से निश्चित की ओर
  3. दृश्य से अदृश्य की ओर
  4. निगमन से आगमन की ओर

सही उत्तर : हरबर्ट स्पेन्सर तथा कामेनियस ने निम्न प्रकार के शिक्षण सूत्रों का उल्लेख किया है-

  1. सरल से कठिन की ओर
  2. ज्ञात से अज्ञात की ओर
  3. स्थूल से सूक्ष्म की ओर
  4. पूर्ण से अंश की ओर
  5. अनिश्चित से निश्चित की ओर
  6. दृश्य से अदृश्य की ओर
  7. विशिष्ट से सामान्य की ओर
  8. विश्लेषण से संश्लेषण की ओर
  9. मनोवैज्ञानिक क्रम से तर्कसंगत की ओर
  10. अनुभव से युक्तियुक्त की ओर
  11. प्रकृति का अनुसरण


प्रश्न 13. सूक्ष्म-शिक्षण चक्र का प्रथम पद होता है-

  1. प्रतिपुष्टि
  2. योजना बनाना
  3. शिक्षण
  4. प्रस्तावना

सही उत्तर : ए. डब्ल्यू एलन को सूक्ष्म शिक्षण का जन्मदाता माना जाता है। सूक्ष्म शिक्षण चक्र का प्रथम पद योजना बनाना होता है।


प्रश्न 14. निम्न में से कौन-सा अवबोध स्तर के शिक्षण में शामिल है?

  1. पृथक्करण
  2. अनुप्रयोग
  3. तुलना
  4. अन्वेषण

सही उत्तर : बोध स्तर शिक्षण व्यवस्था को निम्नलिखित सोपानों में विभाजित किया गया है-

(i) अन्वेषण
(ii) प्रस्तुतीकरण
(iii) आत्मीकरण अथवा परिपाक
(iv) वर्णन अथवा अभिव्यक्तिकरण


प्रश्न 15. शैक्षिक सुधारों में प्रभावी विकेन्द्रीकरण तभी संभव होगा-

  1. जब खंड व संकुल संदर्भ केन्द्रों की भागीदारी बढ़े
  2. स्थानीय संदर्भ व्यक्ति उपलब्ध हो
  3. अध्यापकों के पास संसाधन और प्रासंगिक सामग्री भी मौजूद हो
सही उत्तर चुनें-

  1. A और C
  2. A और B
  3. B और C
  4. A, B और C

सही उत्तर : शैक्षिक सुधारों में प्रभावी विकेन्द्रकरण तभी सम्भव होगा-

  • जब खंड व संकुल संदर्भ केन्द्रों की भागीदारी बढ़े
  • स्थानीय संदर्भ व्यक्ति उपलब्ध हो
  • अध्यापकों के पास संसाधन और प्रासंगिक सामग्री भी मौजूद हो
  • स्थानीय स्तर पर ग्राम शिक्षा समिति, महिला संगठन, गैर सरकारी संगठन या अन्य संगठनों, समितियों की सक्रिय सहभागिता बढ़े।


यूपी टीईटी बाल विकास के महत्वपूर्ण प्रश्न

16. एक छात्र पढ़ रहा है, उसका नाम लेकर किसी ने बुलाया। निम्न में से किस संवेदना द्वारा वह (छात्र) अपनी अनुक्रिया प्रकट करेगा?

  1. दृष्टि संवेदना
  2. स्पर्श संवेदना
  3. ध्वनि संवेदना
  4. प्रत्यक्षणा संवेदना

सही उत्तर : ज्ञानेन्द्रियों के द्वारा व्यक्ति पर होने वाले प्रभाव को संवेदना कहते हैं।

  • यदि कोई छात्र पढ़ रहा है और उसका नाम लेकर कोई व्यक्ति बुलाता है तो सर्वप्रथम वह ‘हाँ’ में जवाब देगा अर्थात वह अपनी अनुक्रिया ध्वनि संवेदना के माध्यम से प्रकट करेगा।


प्रश्न 17. पियाजे के सिद्धांत के अनुसार प्रासंक्रियात्मक अवस्था की अवधि क्या है?

  1. चार से आठ साल
  2. जन्म से दो साल
  3. दो से सात साल
  4. पाँच से आठ साल
सही उत्तर : पियाजे के अनुसार बालक का संज्ञानात्मक विकास चार अवस्थाओं से होकर गुजरता है-

(i) संवेगात्मक गामक अवस्था (जन्म से 2 वर्ष तक)
(ii)प्राक संक्रियात्मक अवस्था (2 वर्ष से 7 वर्ष तक)
(iii) मूर्त संक्रियात्मक अवस्था (7 वर्ष से 11 वर्ष तक)
(iv) औपचारिक संक्रियात्मक अवस्था (11 वर्ष से 15 वर्ष तक)

इस प्रकार प्राक संक्रियात्मक अवस्था 2 वर्ष से 7 वर्ष तक होती है।


प्रश्न 18. निम्न में से कौन-सी बाद की बाल्यावस्था के बौद्धिक विकास की विशेषता नहीं है?

  1. भविष्य की योजना की सूझ-बूझ
  2. विज्ञान की काल्पनिक कथाओं में अधिक रुचि
  3. बढ़ती हुई तार्किक शक्ति
  4. काल्पनिक भयों का अन्त
  25 December 2021 Current Affairs in Hindi : 25 दिसंबर 2021 के सभी महत्वपूर्ण करेंट अफेयर्स
सही उत्तर : भविष्य की योजना की सूझ-बूझ बाल्यावस्था के बाद की अवस्था अर्थात् किशोरावस्था की बौद्धिक विशेषता नहीं है क्योंकि किशोरावस्था में बालक अपने भविष्य की योजनाओं के प्रति चिंतित रहता है, जिसके कारण वह तनाव में रहता है न कि वह अपने भविष्य की योजनाओं के प्रति सूझ-बूझ प्रदर्शित करता है। यह विशेषता सामान्यतः प्रौढ़ावस्था की हो सकती है।


प्रश्न 19. इनमें से कौन मनोवैज्ञानिक भाषा विकास’ से संबद्ध है?

  1. पैवलव
  2. चोमस्की
  3. बिने
  4. मास्लो

सही उत्तर : नोआम चामस्की भाषा विकास से सम्बन्धित मनोवैज्ञानिक हैं।

  • इन्होंने माना कि प्रत्येक मानव शिशु में व्याकरण की संरचनाओं का एक अंतर्निहित एवं जन्मजात खाका होता है, जिसे सार्वभौम व्याकरण की संज्ञा दी गयी।


प्रश्न 20. थार्नडाइक ने अपने सिद्धांत को किस शीर्षक से सिद्ध किया?

  1. संज्ञानात्मक अधिगम
  2. अधिगम के प्रयास एवं भूल
  3. संकेत अधिगम
  4. स्थान अधिगम

सही उत्तर : थार्नडाइक ने अपने सिद्धांत को ‘अधिगम के प्रयास एवं भूल का सिद्धांत’ शीर्षक से सिद्ध किया।

  • इस सिद्धांत को सम्बन्धवाद या उद्दीपक-अनुक्रिया सिद्धांत भी कहते हैं।
  • इनके अनुसार सीखने के लिए पुनर्बलन केन्द्रिय तत्त्व है तथा अनुक्रिया का संतोषजनक परिणाम ही उद्दीपक-अनुक्रिया बन्धन को सुदृढ़ कर सकता है।


प्रश्न 21. गिरोह अवस्था किस आयु-वर्ग एवं विलम्ब-विकास से संबंधित है?

  1. 16-19 वर्ष एवं नैतिकता
  2. 3-6 वर्ष एवं भाषा
  3. 8-10 वर्ष एवं सामाजीकरण
  4. 16-19 वर्ष एवं संज्ञानात्मक

सही उत्तर : गिरोह अवस्था 8-10 वर्ष एवं विलम्ब विकास समाजीकरण से सम्बन्धित है।

  • 8-10 वर्ष की आयु में बालक अपने समूह का सक्रिय सदस्य बन जाता है जो किशोरावस्था में चरम पर पहुँच जाता है।
  • गिरोह अवस्था समाजीकरण से सम्बन्धित होता है।


प्रश्न 22. पियाजे के अनुसार संज्ञानात्मक विकास की तृतीय अवस्था निम्न में से कौन-सा है?

  1. औपचारिक संक्रिया अवस्था
  2. पूर्व-संक्रिया अवस्था
  3. मूर्त संक्रिया अवस्था
  4. संवेदनात्मक गामक अवस्था

सही उत्तर : पियाजे के अनुसार संज्ञानात्मक विकास की तृतीय अवस्था मूर्त संक्रिया अवस्था है।

  • यह अवस्था 7-11 वर्ष तक होती है।
  • इस अवस्था में बालक मूर्त वस्तुओं के सम्बन्ध में चिंतन प्रारम्भ कर देता है।
  • अब वह वस्तुओं में अंतर व तुलना कर सकता है।


प्रश्न 23. निम्न में से अधिगम में योगदान देने वाले मनोवैज्ञानिक कारकों में कौन-सा शामिल नहीं है?

  1. अधिगम की इच्छा
  2. विषयवस्तु का स्वरूप
  3. प्रेरणा
  4. रुचि

सही उत्तर : विषय-वस्तु का स्वरूप अधिगम में योगदान देने वाले मनोवैज्ञानिक कारकों में शामिल नहीं है।

अधिगम की इच्छा, प्रेरणा, रुचि, बुद्धि अभिवृत्ति, परिपक्वता, वैयक्तिकता आदि अधिगम में योगदान देने वाले मनोवैज्ञानिक कारक हैं।


प्रश्न 24. निम्न में से सामाजिक मूल्य कौन-सा है?

  1. सहायतापरक व्यवहार
  2. प्राथमिक लक्ष्य
  3. मूल प्रवृति
  4. आक्रामकता की आवश्यकता

सही उत्तर : राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद की पुस्तक “Document of Social, moral and Spiritual Values in Education” में कुल 83 नैतिक, सामाजिक एवं आध्यात्मिक मूल्यों की चर्चा की गयी है।

प्रमुख सामाजिक मूल्य इस प्रकार हैं-

मैत्रीभाव, समाजवाद, भाईचारा, टीम भावना, कर्त्तव्य भावना, सहानुभूति, सहयोग, समाजसेवा, सामाजिक उत्तरदायित्व आदि।


प्रश्न 25. पश्च अन्वेषण तथा साधन-साक्ष्य विश्लेषण निम्न में से किसके उदाहरण है?

  1. स्वतःशोध
  2. एल्गोरिदम
  3. मानसिक वृत्ति
  4. प्रकार्यात्मक स्थिरता

सही उत्तर : स्वतः शोध विधि में व्यक्ति समस्या का समाधान करने के लिए सभी विकल्पों को नहीं ढूँढ़ता है बल्कि सिर्फ उन्हीं विकल्पों का चयन करके समस्या समधान करने की कोशिश करता है, जो उन्हें संगत प्रतीत होते हैं।

  • पश्च अन्वेषण तथा साधन साक्ष्य विश्लेषण इसकी दो प्रमुख प्रविधियाँ हैं।


प्रश्न 26. “सीखने के वक्र अभ्यास द्वारा सीखने की मात्रा, गति और प्रगति की सीमा को ग्राफ पर प्रदर्शित करते है।” यह किसने कहा है?

  1. स्किनर
  2. रॉस
  3. एबिंगहास
  4. एम.एल. बिग्गी
सही उत्तर : (*) “सीखने के वक्र अभ्यास द्वारा सीखने की मात्रा, गति और प्रगति की सीमा को ग्राफ पर प्रदर्शित करते हैं।” यह कथन गेट्स व अन्य के हैं। अतः कोई विकल्प सही नहीं है।


प्रश्न 27. निम्न में से कौन-सा थॉर्नडाइक के अधिगम के प्राथमिक नियमों में शामिल नहीं है?

  1. साहचर्यात्मक स्थानान्तरण का नियम
  2. अभ्यास का नियम
  3. प्रभाव का नियम
  4. तत्परता का नियम
सही उत्तर : ई.एल. थार्नडाइक ने अधिगम के तीन मुख्य नियम तथा पाँच गौण नियम दिये हैं जो निम्न हैं-

मुख्य नियम-

(i) अभ्यास का नियम
(ii) प्रभाव का नियम
(iii) तत्परता का नियम

गौण नियम-

(i) बहुअनुक्रिया का नियम
(ii) मनोवृत्ति का नियम
(iii) आंशिक क्रिया का नियम
(iv) सादृश्यता का नियम
(v) साहचार्यात्मक रूपान्तरण का नियम


प्रश्न 28. अनुकूलित अनुक्रिया सिद्धांत किसके अनुकूलन पर बल देता है?

  1. व्यवहार
  2. अभिप्रेरणा
  3. तर्क
  4. चिन्तन

सही उत्तर : अनुकूलित अनुक्रिया सिद्धांत व्यवहार के अनुकूलन पर बल देता है।

  • इस सिद्धांत के अनुसार अस्वाभाविक उद्दीपक को स्वाभाविक उद्दीपक के साथ बार-बार प्रस्तुत करने पर प्राणी अस्वाभाविक उद्दीपक के प्रति भी स्वभाविक उद्दीपक जैसी अनुक्रियाएँ करने लगता है। अर्थात् उसकी अनुक्रियाएँ या व्यवहार अस्वभाविक उद्दीपक के साथ अनुकूलित हो जाती हैं।


प्रश्न 29. क्रिया-प्रसूत अनुबन्धन का दूसरा नाम है-

  1. समीपस्थ अनुबंधन
  2. नैमित्तिक अनुबंधन
  3. प्राचीन अनुबंधन
  4. चिन्ह अनुबंधन
सही उत्तर : क्रिया-प्रसूत अनुबंधन का दूसरा नाम नैमित्तिक अनुबंधन भी है।

  • अधिगमकर्ता की अनुक्रियाओं का पुनर्बलन के लिए अनुबन्धन का एक निमित्त होने के कारण इस सिद्धांत को नैमित्तिक या यांत्रिक या साधानात्मक अनुबंधन सिद्धांत के नाम से भी सम्बोधित किया जाता है।
  Geography Quiz-6 : पर्वत दर्रा एवं झील क्विज, भाग-1


प्रश्न 30. निम्न में से कौन-सी अधिगम की एक विशेषता नहीं है?

  1. अधिगम का अवलोकन प्रत्यक्ष रूप से किया जा सकता है
  2. अधिगम व्यवहार में अपेक्षाकृत स्थायी परिवर्तन है
  3. अधिगम प्राणी की अभिवृद्धि है
  4. अधिगम एक लक्ष्योन्मुख प्रक्रिया है

सही उत्तर : योकम एवं सिम्पसन के अनुसार सीखने की सामान्य विशेषताएँ निम्नांकित हैं-

(1) अधिगम अभिवृद्धि (Growth) है
(ii) अधिगम समायोजन है
(iii) अधिगम लक्ष्योन्मुखी प्रक्रिया है
(iv) अधिगम व्यवहार में अपेक्षाकृत स्थायी परिवर्तन है
(v) अधिगम विवेकपूर्ण व सृजनशील है
(vi) अधिगम व्यक्तिगत व सामाजिक दोनों है
(vii) अधिगम अनुभवों का संगठन है
(viii) अधिगम क्रियाशील है

अतः अधिगम का अवलोकन प्रत्यक्ष रूप से किया जा सकता है, यह कथन सही नहीं है।


UP TET Hindi Language Important Quiz/Questions

प्रश्न 31. कवि और उसकी रचना का कौन-सा जोड़ा सही नहीं है?

  1. शिवराज भूषण-भूषण
  2. शब्द रसायन- देव
  3. परिमल- सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’
  4. उद्धव शतक- भारतेन्दु हरिश्चन्द्र

सही उत्तर. : ‘उद्धव शतक’ जगन्नाथदास ‘रत्नाकर’ की रचना है।

  • अन्य कवि अपनी रचनाओं के साथ सुमेलित हैं।


प्रश्न 32. लेखक और उसकी कृति के युग्म में कौन-सा युग्म गलत है?

  1. बोल्गा से गंगा-राहुल सांकृत्यायन
  2. सूरज का सातवाँ घोड़ा-धर्मवीर भारती
  3. आर्यों का आदि देश-डॉ सम्पूर्णानंद
  4. दर्शन दिग्दर्शन-रामचन्द्र शुक्ल

सही उत्तर. : ‘दर्शन दिग्दर्शन’ राहुल सांकृत्यायन की दर्शन विवेचन से सम्बन्धित पुस्तक है।

  • अन्य युग्म (सम्बन्धित लेखकों के साथ) सुमेलित हैं।


प्रश्न 33. विराम-चिह्न की दृष्टि से कौन-सा वाक्य अशुद्ध है?

  1. वह ईमानदार, परिश्रमी, कर्मठ और मृदुभाषी है।
  2. उसके पास धन-वैभव, नौकर-चाकर आदि सभी कुछ था।
  3. हाँ मेरा यही विचार है।
  4. आप हमारे घर आना चाहते हैं, तो आइए ठहरना चाहते हैं, तो ठहरिए।
सही उत्तर. : वाक्य में हाँ के बाद विस्मयादिबोधक चिह्न !’ लगना चाहिए। यथा- हाँ! मेरा यही विचार है। अतः वाक्य अशुद्ध है।


प्रश्न 34. कौन-सा शब्द भिन्न अर्थ और प्रकृति का है?

  1. शाश्वत
  2. चिरंतन
  3. सनातन
  4. अधुनातन

सही उत्तर. : अधुनातन शब्द का अर्थ है- आज तक का घटित काल

  • जबकि अन्य तीन शब्दों के अर्थ लम्बे समय से चले आ रहे सतत कालखण्ड से है।


प्रश्न 39. ‘गौशाला’ में कौन-सा समास है?

  1. तत्पुरुष
  2. बहुब्रीहि
  3. द्विगु
  4. द्वंद्व

सही उत्तर. : ‘गौशाला’ का विग्रह करने पर ‘गाय के लिए स्थान’ अर्थ प्राप्त होता है। अतः यहाँ सम्प्रदान तत्पुरुष समास उपस्थित है।


प्रश्न 40. ‘देशभक्ति’ में कौन-सा समास है?

  1. द्वंद्व
  2. कर्मधारय
  3. तत्पुरुष
  4. द्विगु

सही उत्तर. : ‘देशभक्ति’ का विग्रह करने पर ‘देश की भक्ति’ अर्थ प्राप्त होता है। अतः यहाँ सम्बन्ध तत्पुरुष समास का प्रयोग हुआ है।


प्रश्न 41. ‘प्रागैतिहासिक’ में किस उपसर्ग का प्रयोग है?

  1. प्राक्
  2. प्राग
  3. प्रा
  4. प्रागैति

सही उत्तर. : ‘प्रागैतिहासिक’ में ‘प्राक्’ उपसर्ग का प्रयोग हुआ है जो व्यंजन संधि के प्रभाव से ‘प्रागैतिहासिक’ शब्द के रूप में उच्चारित होता है।

  • यथा- प्राक् + ऐतिहासिक = प्रागैतिहासिक


प्रश्न 42. ‘तुलसीदास’ किसकी कविता है?

  1. मुक्तिबोध अज्ञेय
  2. हरिवंशराय बच्चन
  3. सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’

सही उत्तर. : ‘तुलसीदास’ छायावाद के शलाका पुरुष सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’ की 1938 ई. में लिखी गयी कविता है।


प्रश्न 43. ‘बहिष्कार’ का संधि-विच्छेद क्या है?

  1. वहिः + ष्कार
  2. बहिष् + अकार
  3. बहिः + कार
  4. बहिर + कार
सही उत्तर. : बहिष्कार का संधि विच्छेद – ‘बहिः + कार’ होगा। यह विसर्ग संधि के नियमानुसार है।

  • नियम- यदि विसर्ग संधि के पहले इकार या उकार आये और विसर्ग के बाद का वर्ण क, ख, प, फ, हो, तो विसर्ग का ‘प्’ हो जाता है।


UP TET EVS Questions and Answers in Hindi : यूपी टीईटी पर्यावरण शिक्षा महत्वपूर्ण प्रश्न

प्रश्न 44. इनमें से कौन वर्तमान राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्षा हैं?

  1. गिरिजा व्यास
  2. रेखा शर्मा
  3. मालिनी भट्टाचार्य
  4. यासमीन अबरार

सही उत्तर : वर्तमान में रेखा शर्मा राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्षा हैं। रेखा शर्मा हरियाणा की रहने वाली हैं।


प्रश्न 45. लोक सभा और राज्य सभा की संयुक्त बैठक किसके द्वारा आहूत की जाती है?

  1. राष्ट्रपति
  2. लोक सभा के अध्यक्ष
  3. संसद
  4. राज्य सभा के सभापति

सही उत्तर : राष्ट्रपति भारत का प्रथम नागरिक होता है।

  • राष्ट्रपति प्रधानमंत्री की नियुक्ति करता है तथा प्रधानमंत्री के परामर्श से वह अन्य मंत्रियों की नियुक्ति करता है।
  • लोकसभा और राज्य सभा की संयुक्त बैठक राष्ट्रपति के द्वारा आहूत की जाती है।
  • राष्ट्रपति लोकसभा को भंग कर सकता है तथा संसद की संयुक्त बैठक युक्त बैठक बुला सकता है।


प्रश्न 46. संविधान के किस भाग में पंचायती राजव्यवस्था सम्बन्धी प्रावधान दिए गए हैं?

  1. IX
  2. VI
  3. III
  4. IV

सही उत्तर : संविधान के भाग-IX अनुच्छेद 243 तथा अनुसूची-11 में पंचायती राजव्यवस्था सम्बन्धी प्रावधान दिए गए हैं।


प्रश्न 47. 74वें संविधान संशोधन का सम्बन्ध है-

  1. ग्रामीण स्थानीय स्वशासन से
  2. शहरी स्थानीय स्वशासन से
  3. राष्ट्रपति की शक्तियों से
  4. संसद की शक्तियों से

सही उत्तर : 74वें संविधान संशोधन का सम्बन्ध शहरी स्थानीय स्वशासन से है।

  • इस संविधान संशोधन अधिनियम द्वारा शहरी स्थानीय निकायों को संवैधानिक स्थिति एवं सुरक्षा प्रदान की गई है।

Leave a Reply