Static GK Quiz for SSC & Railways Part – 4

Join Whatsapp Group

Join Telegram Group

प्रश्न : शास्त्रीय नृत्य ओडिसी किस प्रदेश की उपज है?

  1. ओडिशा
  2. आंध्र प्रदेश
  3. राजस्थान
  4. गुजरात

सही उत्तर : ओडिशा 

  • ओडिसी एक शास्त्रीय नृत्य है, जो ओडिशा राज्य से सम्बद्ध है। यह नृत्य देवदासी परंपरा से अनुप्राणित  रहा है। हाथी गुंफा लेख से इसका प्राचीनतम प्रमाण मिलता है।
  • इसका मूल आधार स्रोत भरतमुनी का नाट्य शस्त्र, अभिनय चंद्रिका, अभिनय दर्पण जैसे शास्त्रीय ग्रंथ हैं।  इंद्राणी रहमान, कालीचंद, कालीचरण पड़नायक, सोनल माँ सिंह, संजुक्ता पाणिग्रही आदि इसके मुख्य नर्तक हैं।

 

प्रश्न : निम्नलिखित में से कौन सी एक प्रसिद्ध भारतीय शास्त्रीय नृत्यांगना हैं?

  1. पलघट मनी अय्यर
  2. मधुमती
  3. सोनल मानसिंह
  4. सिद्धेश्वरी देवी

सही उत्तर : सोनल मानसिंह

  • उपर्युक्त दिए गए विकल्पों में सोनल मानसिंह एक प्रसिद्ध भारतीय शास्त्रीय नृत्यांगना हैं जबकि पलघट मनी अय्यर एक मृदंग वादक तथा सिद्धेश्वरी देवी शास्त्रीय गायिका हैं। 

 

प्रश्न : मोहिनीअट्टम नृत्य रूप का विकास निम्नलिखित में से मूलतः किस राज्य में हुआ है?

  1. कर्नाटक
  2. केरल
  3. उड़ीसा
  4. तमिलनाडु
मोहिनीअट्टम केरल की एक शास्त्रीय नृत्य शैली है। यह नृत्य प्राचीन देवदासी प्रथा का विकसित रूप है। यह एकल नृत्य है जो महिलाओं द्वारा किया जाता है।

 

प्रश्न : करगम कहां का लोक नृत्य है?

  1. आंध्र प्रदेश
  2. तमिलनाडु
  3. कर्नाटक
  4. केरल
सही उत्तर : तमिलनाडु

करगम तमिलनाडु का लोकप्रिय लोक नृत्य है।

 

प्रश्न : निम्नलिखित में से कौन भरतनाट्यम की नर्तिका नहीं है?

  1. सितारा देवी
  2. लीला सैमसन
  3. गीता रामचंद्रन
  4. सोनल मानसिंह

सही उत्तर : सितारा देवी 

  • सितारा देवी भारत की प्रसिद्ध कथक नृत्यांगना थी। इनका मूल नाम धनलक्ष्मी और घर का नाम धन्नो था। इन्हें संगीत नाटक अकादमी सम्मान -1969, पद्मश्री -1973 एवं कालिदास सम्मान 1995 में प्राप्त हुआ था।
  50+ SSC CGL Computer Quiz In Hindi | Computer Quiz for SSC CGL Tier II

 

प्रश्न : निम्नलिखित में से कौन सा भारतीय लोक नृत्य है?

  1. गरबा
  2. कथकली
  3. मोहिनीअट्टम
  4. मणिपुरी

सही उत्तर : गरबा 

  • प्रस्तुत विकल्पों में गरबा भारतीय लोक नृत्य है  जबकि शेष तीनों विकल्प भारतीय शास्त्रीय नृत्य से संबंधित हैं।
  • गरबा नृत्य गुजराती महिलाओं द्वारा किया जाने वाला नृत्य है यह नृत्य नवरात्रि शरद पूर्णिमा बसंत पंचमी होली और अन्य उत्सव में किया जाता है।

 

प्रश्न : कथकली शास्त्रीय नृत्य किस राज्य से शुरू हुआ था?

  1. केरल
  2. कर्नाटक
  3. राजस्थान
  4. तमिलनाडु

सही उत्तर : केरल 

  • 7 वीं शताब्दी में कथक कली शास्त्रीय नृत्य का विकास केरल से प्रारंभ हुआ था। कोट्टारक्करा थामपुरान (वीरा केरला) नामक राजा ने जिस रामनट्टम का अविष्कार किया था उसी का यह विकसित रूप है।
  • इसके प्रमुख नृत्य कलाकार हैं मृणालिनी साराभाई, कृष्णन कुट्टी, आनंद शिवरामन कृष्ण नायर, शांताराव आदि।

 

प्रश्न :  गुरु गोपीनाथ प्रतिपादक थे?

  1. कत्थक के
  2. कत्थक कली के
  3. कुचिपुड़ी के
  4. भरतनाट्यम के

सही उत्तर : कत्थक कली के

  • गुरु गोपीनाथ कथकली के प्रतिपादक थे। अन्य नर्तकों में कल्लतोल्ल नारायण मेनन, मृणालिनी साराभाई उदय शंकर एवं कृष्णन कुट्टी हैं। कथकली नृत्य शैली का सर्वश्रेष्ठ प्रशिक्षण संस्थान कलामंडलम में है।

 

प्रश्न : यक्षगान लोक नृत्य संबंध किस भारतीय राज्य से है?

  1. केरल
  2. कर्नाटक
  3. तमिलनाडु
  4. आंध्र प्रदेश
सही उत्तर : कर्नाटक 

यक्षगान कर्नाटक राज्य का लोक नृत्य है। यक्षगान कर्नाटक का पारंपरिक नृत्य नाट्य रूप है। यह सर्वोत्तम नाट्य प्रस्तुति शास्त्रीय संगीत, नृत्य कला और प्राचीन अन्य लेखों का एक भव्य मिश्रण बनकर प्रकट होती है।

 

प्रश्न : गरबा किस राज्य का लोक नृत्य है?

  1. गुजरात का
  2. राजस्थान का
  3. उड़ीसा का
  4. असम का
  UPSSSC PET Exam Quiz in Hindi | Important Questions for UPSSSC PET Exam in Hindi

सही उत्तर : गुजरात

  • डांडिया गुजरात का लोकप्रिय नृत्य है। इसके अतिरिक्त गुजरात के प्रमुख नृत्य हैं – गरबा, झकोलिया, टिप्पानी, दीपक नृत्य, पणिहारी नृत्य, भबई, रासलीला, लास्या

 

प्रश्न : निम्नलिखित में से कौन सा कर्नाटक संगीत का रूप नहीं है?

  1. कृति
  2. थिल्लाना
  3. श्लोकम
  4. टप्पा
सही उत्तर : टप्पा 

टप्पा कर्नाटक संगीत का रूप नहीं है। यह पंजाबी संगीत का रूप है।

 

प्रश्न : कुचिपुड़ी कहां की नृत्य प्रणाली है?

  1. केरल
  2. तमिलनाडु
  3. कर्नाटक
  4. आंध्र प्रदेश
सही उत्तर : आंध्र प्रदेश

कुचीपुड़ी आंध्र प्रदेश का एक गांव है, जिसके नाम पर इस नृत्य का नाम रखा गया है। कुचिपुड़ी को उसके वर्तमान स्वरूप में लाने का श्रेय वेदांतम लक्ष्मी नारायण शास्त्री, वेदांतम सत्यनारायण शर्मा को जाता है। इसके नर्तक वेम्पति सत्य नारायण, यामिनी कृष्णमूर्ति, चिंताकरण मूर्ति इत्यादि हैं।

Leave a Comment

X

UP Police