भूगोल नोट्स: भारतीय नदियाँ, उद्गम स्थल और नदी तंत्र, भाग-5

ब्रह्मपुत्र नदी तंत्र

ब्रह्मपुत्र नदी तीन देशों चीन भारत और बांग्लादेश से होकर गुजरती है।
  • ब्रह्मपुत्र नदी को 4 नामों से जाना जाता है-
  1. चीन में सांगपो नदी
  2. अरुणाचल प्रदेश में दिहंग नदी
  3. असम में ब्रह्मपुत्र नदी
  4. बांग्लादेश में जमुना नदी
  • ब्रह्मपुत्र नदी हिमालय के उत्तर में चीन के तिब्बत पठार पर मानसरोवर झील के पास से निकलती है।
  • ब्रह्मपुत्र नदी हिमालय की सबसे पूर्वी चोटी नामचा बरवा से यू टर्न लेकर अरुणाचल प्रदेश में प्रवेश कर जाती है।
  • अरुणाचल प्रदेश में प्रवेश करने पर ब्रह्मपुत्र नदी में दिबांग और लोहित दो सहायक नदियां मिलती हैं।
  • असम में यह नदी सदियां से लेकर धुबरी तक प्रवाहित होती है। इसके आसपास के क्षेत्र को रैंप घाटी भी कहते हैं।
  • असम में ब्रह्मपुत्र नदी गुम्फित जलमार्ग बनाती है, इस गुम्फित जल मार्ग में कई छोटे-छोटे नदी द्वीप भी पाए जाते हैं।
  • इन द्वीपों में माजूली दुनिया का सबसे बड़ा नदी द्वीप है।
  • असम सरकार ने माजुली द्वीप को नदी जिला घोषित किया है जो कि भारत का एकमात्र नदी जिला है।
  • धुबरी से अचानक दक्षिण में मुड़कर ब्रह्मपुत्र नदी बांग्लादेश में प्रवेश कर जाती है, जहां पर इसे जमुना नदी के नाम से जाना जाता है।
  • सिक्किम के जेमू ग्लेशियर से निकलने वाली तीस्ता नदी बांग्लादेश में जमुना नदी से मिल जाती है,दोनों की संयुक्त धारा जमुना नदी कहलाती है।
  • आगे चलकर जमुना नदी पद्मा नदी से मिल जाती है और अब संयुक्त रूप से यह नदी पद्मा नदी कहलाती है।
  • जब मणिपुर से निकलने वाली बराक अर्थात मेघना नदी पदमा से मिलती है तो दोनों की संयुक्त धारा को मेघना नदी कहते हैं।
  SSC CGL 2021 Important Current Affairs Questions : सीजीएल 2021 परिक्षा के लिए महत्वपूर्ण करंट अफेयर्स के प्रश्न

ब्रह्मपुत्र नदी की सहायक नदी –

दिबांग, लोहित, धनश्री, सुभान श्री, जिया भरेली, पगलादिया, मानस, तीस्ता, पिथुमारी 

Leave a Reply