भूगोल नोट्स: भारतीय नदियाँ, उद्गम स्थल और नदी तंत्र, भाग-4

गंगा नदी तंत्र

गंगा नदी तंत्र की सबसे बड़ी नदी खुद गंगा ही है। साथ ही भारत में सबसे बड़ा जलग्रहण क्षेत्र गंगा नदी का ही है।
गंगा नदी
  • गंगा नदी का निर्माण उत्तराखंड में भागीरथी और अलकनंदा नदी की धाराओं के मिलने से होता है।
  • भागीरथी नदी उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में गोमुख के निकट गंगोत्री ग्लेशिअर से निकलती है जबकि यमुना सतोपथ ग्लेशियर से निकलती है।
  • भागीरथी और अलकनंदा नदियाँ देवप्रयाग में मिलकर गंगा नदी का निर्माण करती हैं।
  • अलकनंदा नदी का निर्माण धौलीगंगा और विष्णुगंगा नदी के विष्णुप्रयाग में मिलने से होता है। ये दोनों नदियाँ सतोपथ ग्लेशियर से नुकलती हैं।
  • आगे बहते हुए अलकनंदा नदी से कर्णप्रयाग में पिण्डार नदी मिलती है और उसके भी आगे रुद्रप्रयाग में मंदाकिनी नदी मिलती है। इन्हें संयुक्त रूप से अलकनंदा नदी ही कहा जाता है।
  • इसके बाद दूसरी तरफ से आ रही भागीरथी नदी रुद्रप्रयाग में अलकनंदा नदी से मिल जाती है और गंगा नदी का निर्माण होता है।

गंगा नदी भारत के 5 राज्यों उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखण्ड और पश्चिम बंगाल से हो कर गुजरती है।

  • पश्चिम बंगाल में गंगा नदी दो नदियों हुगली नदी और भागीरथी नदी में बाँट जाती है। मुख्य नदी भागीरथी बहते हुए पश्चिम बंगाल में प्रवेश कर जाती है जबकि हुगली नदी कलकत्ता से होते हुए बंगाल की कड़ी में प्रवेश करती है।
  • छोटा नागपुर पठार के बीचोबीच में बहने वाली दामोदर नदी पूर्व में बहते हुए हुगली नदी से मिल जाती है, जो बाद में कलकत्ता होते हुए बंगाल की खाड़ी में प्रवेश कर जाती है।
  • गंगा की मुख्य नदी भागीरथी बांग्लादेश में पहुंचकर पद्मा नदी कहलाती है जो बाद में आगे चलकर अरुणांचल प्रदेश से आ रही जमुना (ब्रह्मपुत्र) नदी से मिल जाती है।
  • इसके बाद पद्मा नदी मेघना (बराक) नदी मिल जाती है और संयुक्त धारा मेघना नदी के रूप में बंगाल की खाड़ी में गिर जाती है। बराक अथवा मेघना नदी मणिपुर से निकलती है।
  • गंगा और ब्रह्मपुत्र नदी का डेल्टा दुनिया का सबसे बड़ा डेल्टा है। जिसे सुन्दरवन डेल्टा कहते हैं, इसका विस्तार हुगली नदी से लेकर मेघना नदी तक है।
  • सुंदरवन का डेल्टा मैंग्रोव वनों के लिए जाना जाता है मैंग्रोव वनस्पति हमेशा खारे जल वाले क्षेत्र में पाई जाती हैं।
  • यहां पर मुख्य रूप से मैंग्रोवा, कैसुरीन और सुंदरी नामक वृक्ष पाए जाते हैं।
  • भारत में पाया जाने वाला बंगाल टाइगर सुंदरवन अर्थात मैंग्रोव वन में ही पाया जाता है।
  • भारत में सबसे ज्यादा मैंग्रोव वन पश्चिम बंगाल में जबकि दूसरे स्थान पर गुजरात में पाया जाता है।
  भूगोल नोट्स: पूर्वी तटीय मैदान और पश्चिमी तटीय मैदान

गंगा नदी की सहायक नदियां

1.दाहिने तट पर

  • दाहिने तट पर मिलने वाली अधिकतर नदियां प्रायद्वीपीय भारत के पठार की नदी हैं।
  • हिमालय से निकलने वाली गंगा की एकमात्र सहायक नदी यमुना है जोकि गंगा से दाहिने तट पर मिलती है।
  • गंगा के दाहिने तट पर मिलने वाली प्रमुख नदी चंबल सिंध बेतवा केन सोन और टोंस नदी है।
यमुना नदी
  • यह गंगा की सबसे बड़ी सहायक नदी है यमुना नदी उत्तराखंड में बंदरपूंछ चोटी पर यमुनोत्री से निकलकर प्रयागराज में गंगा नदी से मिल जाती है।
  • यमुना नदी की कुल लंबाई 1365 किलोमीटर है।
चंबल सिंध बेतवा और केन नदी
  • यद्यपि चंबल सिंध बेतवा और के नदियां गंगा नदी तंत्र का हिस्सा है लेकिन यह अपना जल सीधे गंगा में ना गिराकर यमुना के दाहिने तट पर मिलती हैं।
  • यह चारों नदियां मालवा के पठार से निकलती हैं।
  • चंबल नदी यमुना की सबसे बड़ी सहायक नदी है।
टोंस और सोन नदी
  • केवल यही दो नदियां प्रायद्वीपीय पठार से निकलकर सीधे गंगा नदी में सम्मिलित होती हैं।
  • टोंस नदी इलाहाबाद जिले में गंगा से मिलती है।
  • सोन नदी मैकाल पहाड़ी पर अमरकंटक चोटी से निकलकर पटना से पहले गंगा नदी में मिल जाती है।

2.बांये तट पर मिलने वाली नदियां

  • यमुना को छोड़कर हिमालय से निकलने वाली सभी नदियां गंगा के बाएं तट पर मिलती हैं इनका पश्चिम से पूर्व में क्रम इस प्रकार है-

राम, गंगा, गोमती, घाघरा, गंडक, कोसी और महानदी

  • राम गंगा गोमती और घागरा उत्तर प्रदेश गंडक और कोसी बिहार व महानदी बिहार और पश्चिम बंगाल की सीमा पर प्रवाहित होती है।
  • गोमती नदी गंगा की एकमात्र सहायक नदी है जो हिमालय से ना निकल कर मैदानी इलाके से निकलती है।
  • गोमती नदी का उद्गम उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले के तराई मैदान में स्थित फुलहर झील से होता है
  • लखनऊ के अलावा जौनपुर शहर भी गोमती नदी के तट पर स्थित है।
  • गंडक नदी को नेपाल में शालिग्राम या नारायणी नदी के नाम से जाना जाता है।
  • कोसी नदी अपना रास्ता बदलने की वजह से बिना का शोक कहलाती है। यह नदी नेपाल से हिमालय को काटकर बहुत ज्यादा आसान लेकर आती है जिस वजह से बिहार के मैदानी भाग में स्वयं ही अपना रास्ता अवरुद्ध कर दूसरे मार्ग से निकल जाती है।
  • महानंदा गंगा के बाएं तट पर मिलने वाली सबसे पूर्वी और अंतिम सहायक नदी है। यह नदी पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग पहाड़ियों से निकलती है।
  भूगोल नोट्स: भारतीय नदियाँ, उद्गम स्थल और नदी तंत्र, भाग-3

Leave a Reply

Related Posts