भूगोल नोट्स: प्रायद्वीपीय भारत का पठार: भाग-3

पश्चिमी घाट पर्वत

पश्चिमी घाट पर्वत तापी नदी के मुहाने से शुरू होकर दक्षिण में केपकोमोरिन (कन्याकुमारी) तक जाता है।
  • पश्चिम घाट पर्वत का विस्तार 16 किलोमीटर के क्षेत्र में है, जो हिमालय के बाद भारत का दूसरा सबसे लंबा पर्वत है। इसे सहयाद्री पर्वत भी कहते हैं।
  • पश्चिमी घाट पर्वत सही मायने में पर्वत ना होकर प्रायद्वीपीय भारत के पठार का पश्चिमी भ्रंश कगार है।
  • इस पर्वत के उत्तर में गुजरात के सौराष्ट्र क्षेत्र में तीन पहाड़ियां पाई जाती हैं।
  1. मांडो पहाड़ी
  2. बारदा पहाड़ी
  3. गिर पहाड़ी
  • सौराष्ट्र के गिर पहाड़ी क्षेत्र में एशियाई शेर पाए जाते हैं।
  • उत्तरी सहयाद्री में सबसे ऊंची चोटी काल्सुबाई है। यह महाराष्ट्र के अंतर्गत आता है।
  • काल्सुबाई के दक्षिण में महाबलेश्वर चोटी है, कृष्णा नदी महाबलेश्वर चोटी से ही निकलकर बंगाल की खाड़ी में गिरती है।
  • कर्नाटक में पश्चिमी घाट पर दो चोटियां हैं।
  1. कुद्रे मुरम
  2. ब्रह्मगिरी
  • कर्नाटक के ब्रम्हगिरी पर्वत से कावेरी नदी निकलती है और तमिलनाडु में प्रवाहित होती है।
  • दक्षिण भारत में जाकर पश्चिम घाट पर्वत और पूर्वी घाट पर्वत आपस में मिलकर एक विशाल पर्वत का निर्माण करते हैं जिसे नीलगिरी पर्वत कहते हैं।
  • नीलगिरी पर्वत का विस्तार तमिलनाडु केरल और कर्नाटक में है, इस पर्वत की सबसे ऊंची चोटी डोडाबेटा है जो दक्षिण भारत का सबसे ऊंचा शिखर है।
  • प्रसिद्ध पर्यटक स्थल ऊँटी या उटकमंडल तमिलनाडु के नीलगिरी पहाड़ी पर है। केरल का प्रसिद्ध सदाबहार वन नीलगिरी पहाड़ी पर ही स्थित है।
  • नीलगिरी पर्वत के दक्षिण में एक पर्वतीय गैप (स्थान) है, जिससे पालघाट दर्रा या पलक्कड़ गैप कहते हैं।
  • पालघाट दर्रा के दक्षिण में एक और पर्वतीय गांठ है, जिसे अनाई मुद्री पर्वतीय गांठ कहते हैं। इस पर्वतीय घाट से तीन तरफ पहाड़िया निकली है।
    1. उत्तर की ओर – अन्नामलाई पहाड़ी
    2. दक्षिण की ओर – कार्डामम पहाड़ी (केरल)
    3. उत्तर पूर्व की ओर – पालनी पहाड़ी
    • कार्डामम पहाड़ी को इलायची पहाड़ि या इलामलय पहाड़ी के नाम से भी जाना जाता है। यह भारत की दक्षिणतम पहाड़ी है।
    • पालनी की पहाड़ी मुख्य रूप से तमिलनाडु में स्थित है, प्रसिद्ध पर्यटक स्थल कोडाईकनाल इसी पहाड़ी पर है।
    • अन्नामलाई और कार्डामम पहाड़ी केरल और तमिलनाडु की सीमा पर स्थित है।
    • पश्चिम घाट पर्वत पर निम्नलिखित दर्रे पाए जाते हैं।
    1. थालघाट दर्रा
    2. भोरघाट दर्रा
    • मुंबई से नागपुर जाने वाली सड़क थालघाट दर्रे से होकर जाती है। ( यह सड़क मुंबई को उत्तर भारत से जोड़ती है)
    • भोरघाट दर्रा भी पश्चिम घाट पर्वत पर महाराष्ट्र में ही है जो मुंबई को पुणे से जोड़ता है।
    • नीलगिरी और अन्नामलाई के बीच पालघाट दर्रा है।
    • सेनकोटा दर्रा कार्ड मम पहाड़ी पर है जो तिरुअनंतपुरम को मदुरै से जोड़ता है।
  RRB NTPC/Group D GK Quiz-2 : 4 जनवरी 2021 की दूसरी शिफ्ट में पूछे गये प्रश्न

भूगोल नोट्स: प्रायद्वीपीय भारत का पठार: भाग-2

       
    शेयर करें -

    Leave a Reply