इतिहास नोट्स: भारत पर अरबों का आक्रमण और उसके परिणाम

History Notes in Hindi, History For SSC Exam, History For SSC Stenographer, History Notes For Every Exams, History Notes in Hindi For UPSC

भारत पर अरबों का आक्रमण

मुहम्मद बिन कासिम

  • पैगम्बर मुहम्मद साहब के उत्तराधिकारी उमैयद खलीफा के सेनापति मुहम्मद बिन कासिम, भारत पर आक्रमण करने वाला प्रथम अरब मुस्लिम था। जिसने सिंध व मुल्तान को (712 ई0) में जीत लिया था। भारत में हुए आक्रमण का उद्देश्य अरब राज्य का विस्तार व इस्लाम धर्म का प्रचार था। उस समय सिंध का शासक ब्राह्मणवंशी राजा दाहिर सेन था।
  • सिन्धु क्षेत्रों में अरबों ने सर्वप्रथम दिरहम सिक्का, खजूर की खेती व ऊंट पालन प्रारंभ किया था। प्रथम बार सिन्धु वासियों ने जजिया कर (गैर-धार्मिक कर) 712ई0 में मुहम्मद बिन कासिम द्वारा लगाया गया था।

भारत पर प्रथम मुस्लिम आक्रमण के वर्ष के सन्दर्भ में मतभेद हैं। बी डी महाजन की पुस्तक के अनुसार मुहम्मद बिन कासिम ने 711 ई0 में आक्रमण किया था जबकि हरीशचन्द्र वर्मा के अनुसार यह तिथि 712 ई0 है।

  • ज्ञात हो कि भारत पर सर्वप्रथम मुस्लिम आक्रमण 711 ई0 में उबैदुल्लाह के नेतृत्व में हुआ। इसके बाद 711 ई0 में ही बुदैल के नेतृत्वा में दूसरा आक्रमण हुआ। ये दोनों ही आक्रमण असफल हुए।

भारत पर आक्रमण का परिणाम

  • चरकसंहिता एवं पंचतंत्रों का अरबी में अनुवाद किया गया। बग़दाद के खलीफाओं ने भारतीय विद्वानों को संरक्षण प्रदान किया।
  • खलीफा मंसूर के समय में अरब विद्वानों ने अपने साथ ब्रह्मगुप्त द्वारा रचित ब्रह्मसिद्धांत एवं खंडखाद्य को लेकर बगदाद गये और अलफजारी ने भारतीय विद्वानों के सहयोग से इन ग्रंथों का अरबी भाषा में अनुवाद किया।
  • भारतीय खगोलशास्त्र के आधार पर अरबों ने इस विषय पर अनेक पुस्तकों की रचना की जिसमें सबसे प्रमुख अल-फाजरी की किताब-उल-जिज है।
  भूगोल नोट्स: पूर्वी तटीय मैदान और पश्चिमी तटीय मैदान
   
शेयर करें -

Leave a Reply

Related Posts